Sat. Sep 26th, 2020

राजबाड़ा की कलाकृति बनाकर वर्ल्ड बुक ऑफ रिकार्ड्स “लंदन” में दर्ज कराया शहर की बेटी समीक्षा ने “इंदौर” का नाम

कलाकृति बनाने के लिए 6000 हजार वेस्ट जींस का इस्तेमाल किया गया

इंदौर | शहर के SDPS कॉलेज ऑफ आर्किटेक्चर की छात्रा समीक्षा गिरीशचंद्र पंड्या ने इंटरनेशनल आर्टिस्ट साहिल लहरी के मार्गदर्शन में अन्य 100 कलाकारों के साथ मिलकर राजबाड़ा की कलाकृति बनाकर वर्ल्ड बुक ऑफ रिकार्ड्स लंदन में अपना नाम दर्ज कराया।
स्वच्छता का संदेश जन-जन तक पहुँचाने के उद्देश्य से इंदौर में 1 मार्च को इंटरनेशनल आर्टिस्ट साहिल (अंकित) लहरी के निर्देशन में विभिन्न राज्यों से आए लगभग 100 कलाकारों ने मिलकर मॉडर्न इंस्टिट्यूट के दस हजार वर्ग फीट मैदान में राजबाड़ा की कृति बनाकर अनोखा रिकॉर्ड बनाया है। कलाकृति बनाने के लिए 6000 हजार वेस्ट जींस का इस्तेमाल किया गया था। आपको बता दे कि वर्तमान में इंदौर के SDPS कॉलेज में बी.आर्क अंतिम वर्ष की छात्रा समीक्षा पंड्या ने आयोजन में शामिल होकर अपनी सहभागिता के साथ अपनी कला व प्रतिभा का प्रदर्शन किया। उल्लेखनीय है की
शहर की कलाकार समीक्षा ने अपनी स्कूली पढ़ाई के दौरान अब तक अनेक पेंटिंग कॉम्पिटिशन में भाग लिया, तथा लायन्स क्लब द्वारा आयोजित अन्तर्विद्यालयिन पेंटिंग कॉम्पिटिशन में प्रथम पुरस्कार भी प्राप्त किया।
मीडिया से बात करते हुए शहर की प्रतिभावान कलाकार समीक्षा पंड्या ने बताया की मुझे अपनी प्रतिभा को निखारने में परिवार के सभी सदस्यों का पुरजोर सहयोग मिला, सौभाग्य की बात तो ये है कि हम तीन बहनें हैं और तीनों कला के अलग-अलग क्षेत्रों में कार्य करते हुए अपने शहर का नाम विश्व पटल पर दर्ज कराने का निरंतर प्रयास कर रहे हैं। वर्तमान परिदृश्य में बेटियों को लेकर देशभर में जिस तरह के माहौल निर्मित हैं, ऐसे में हमारे घर वालों के साथ कॉलेज के शिक्षक-शिक्षिकाओं का भरपूर सहयोग रहा है। हमें विश्वास हैं कि यह सहयोग हमें हमेशा मिलता रहेगा, तथा राजबाड़ा की कलाकृति बनाकर वर्ल्ड बुक ऑफ रिकार्ड्स “लंदन” में “इंदौर” का नाम दर्ज कराने का खिताब हमारे माता-पिता व गुरुजनों की कड़ी मेहनत व निष्ठा को समर्पित है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed