Fri. Apr 10th, 2020

नेतृत्व ही निर्धारित करता है व्यक्ति के कैरियर की शक्ति-नितिन मोहन डहरिया

इंदौर: देवी अहिल्या विश्वविद्यालय की कुलपति प्रो.रेणु जैन व पत्रकारिता एवं जनसंचार अध्ययनशाला की विभागाध्यक्ष डॉ. सोनाली नरगुंदे के कर कमलों से विमोचित हुई विचारधारा आधारित पुस्तक ‘युवार्थ’ को लिखने वाले नितिन मोहन डेहरिया ने भंवरकुआं समीपस्थ प्रोवेस शैक्षणिक पुस्तकालय में सरकारी सेवा की तैयारी कर रहे छात्रो को सम्बोधित कर अपने अनुभव को रखते हुए छात्रो को नेतृत्वशक्ति व अच्छे समाजिक सक्रिय युवा बनने की प्रेरणा दी, उन्होंने बताया कि इन परीक्षाओं में एक अच्छे परीक्षा परिणाम के लिए आपको सर्वप्रथम एक अच्छा समाजिक सक्रिय युवा बन कर समाज की विविध गतिविधियों में शोध करना बेहद आवश्यक है। क्योंकि सर्वाधिक युवाओ की संख्या वाला हमारा भारत आपके कंधों में अहम ज़िम्मेदारी दे रखा है। लिखने, सोचने, समझने व प्रयास करने के जज़्बे को रुह में दम भरते हुए अनेको उदाहरण के माध्यम से मौजूद युवाओ को सदैव शालिग्राम की तरह संघर्षशील होने के लिए तैयार रहने की प्रेरणा दी,नितिन मोहन डेहरिया ने बताया कि भारत के युवा में इतिहास रचने की दिव्य शक्ति है पर ज़रूरत शक्ति को पहचानने की है, जिस दिन हम स्वयं को व्यक्ति से व्यक्तित्व में परिवर्तित कर दे वही हमारी असल सफलता होगी।


इसी श्रृंखला में नितिन ने सभी युवाओ को अपने आने वाले अंतरराष्ट्रीय अभियान ‘मिशन युवार्थ’ से अवगत कराते हुए बताया कि 7 देशो सहित भारत के 29 राज्य व 7 स्वशासित राज्यो में जाकर अगले 3 वर्षो में 2000 शैक्षणिक संस्थानों में पहुच कर युवाओ को नेतृत्वशक्ति के साथ स्वच्छ अंतराष्ट्रीय लेवल की राजनीति में सक्रियता के लिए प्रेरित करेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed