Fri. Apr 10th, 2020

भिलाई के खुर्सीपार थाना से कांग्रेसी नेता सरकार का धौंस दिखाकर लॉकअप से छुड़ा ले गए आरोपी को, रवैया देख TI ने कहा, आप ही चलाओ थाना…

कांग्रेसी बड़ी संख्या में खुर्सीपार थाना पहुंच गए। वे हिरासत में लिए आरोपी को जबरन थाना से ले गए। बाद में दूसरे पक्ष के खिलाफ भी अपराध दर्ज करने दबाव बनाने लगे।

कांग्रेसी नेता सरकार का धौंस दिखाकर लॉकअप से छुड़ा ले गए आरोपी को, रवैया देख TI ने कहा, आप ही चलाओ थाना...
कांग्रेसी नेता सरकार का धौंस दिखाकर लॉकअप से छुड़ा ले गए आरोपी को, रवैया देख TI ने कहा, आप ही चलाओ थाना.

भिलाई. (प्रवीण कुमार), खुर्सीपार क्षेत्र में 7 जनवरी को दो पक्षों में मारपीट हो गई। पीडि़त युवती की शिकायत पर पुलिस ने बी. सुरेश के खिलाफ प्रतिबंधात्मक धारा 107, 16 के तहत जुर्म दर्ज किया। 8 जनवरी की सुबह पुलिस की पेट्रोलिंग टीम उसे उठाकर थाना ले लाई। यह खबर मिलते ही कांग्रेसी बड़ी संख्या में खुर्सीपार थाना पहुंच गए। हिरासत में लिए सुरेश को जबरन थाना से ले गए। बाद में दूसरे पक्ष के खिलाफ भी अपराध दर्ज करने दबाव बनाने लगे। कांगे्रसियों का यह रवैया देखकर टीआई सुरेंद्र उके इस कदर गुस्सा गए कि स्टाफ सहित दफ्तर से बाहर निकल आए और कहने लगे कि जब कानून संविधान नहीं, आप लोगों के हिसाब से ही चलना है तो फिर हमारा क्या काम? लो संभाल लो शहर की कानून व्यवस्था। इसके बाद कांग्रेसी कुछ नरम पड़े और फिर मिन्नतें करने लगे।

तीन थाने के थानेदार भी बल के साथ पहुंचे
ख्ुार्सीपार थाने में कांग्रेसियों द्वारा हुज्जत करने की खबर मिलते ही छावनी सीएसपी विश्वास चंद्राकर पहुंचे। छावनी और भिलाई-तीन थाने से भी अतिरिक्त बल बुलवा लिया गया। सीएसपी चंद्राकर ने एल्डरमैन गोयल और राकेश राय से चर्चा की। इसके बाद मामला शांत हुआ। खुर्सीपार पुलिस ने बी. अंकिता की शिकायत पर ज्योति विश्वकर्मा, विनोद यादव, उषा विश्वकर्मा, पूनम विश्वकर्मा, नीलम विश्वकर्मा, सूरज भान, पप्पू समेत अन्य के खिलाफ धारा 452, 294, 506, 323, 34 के तहत अपराध दर्ज किया है। दूसरे पक्ष ज्योति की शिकायत पर बी. सुरेश, बी. अंकिता, बी. नरेश और बी. अगाता के खिलाफ 294, 323, 506, 34 के तहत अपराध दर्ज किया है। बुधवार सुबह 10 बजे ज्योति विश्वकर्मा, बहन उषा विश्वकर्मा और भाई बी. सुरेश, बी अंकिता, बी नरेश और बी अगाता के साथ किसी बात को लेकर विवाद कर रहा था। ज्योति ने खुर्सीपार थाना में शिकायत की। पुलिस ने ज्योति को समझाकर भेज दिया।

बताया पीडि़ता ने जान का खतरा 
ज्योति फिर थाने पहुंची और सुरेश को बाउंसर व उससे जान को खतरा बताते हुए रिपोर्ट दर्ज करने कहा। खुर्सीपार पुलिस सुरेश को पकडऩे ज्योति के साथ गई। रास्ते में ही सुरेश अंकिता, नरेश और अगाता मिल गए। वहीं फिर मारपीट हो गई। खुर्सीपार पुलिस मौके से ही सुरेश को थाने ले आई। कांग्रेसी खुर्सीपार थाना पहुंचे और सुरेश को साथ ले गए। गुरुवार सुबह ज्योति बहन उषा और भाई के साथ ख्ुार्सीपार थाना पहुंची। पुलिस ने शिकायत पर सुरेश के खिलाफ मामला दर्ज किया।

कांग्रेसियों ने कर दिया थाने का घेराव 
सुरेश को हिरासत में लेकर थाना मेें बैठाने की खबर मिलते ही कांगे्रसियों ने थाने का घेराव कर दिया। टीआई सुरेन्द्र उके तुरंत थाने पहुंचे। भीड़ से कहा कि पुलिस को कानून के मुताबिक अपना काम करने दें। आप लोग बाहर जाएं। यह बात एल्डरमैन सुनील गोयल को नागवार गुजरी। तमतमाते हुए टीआई पर बरस पड़े। कहने लगा कि आप मुझे नहीं जानते। प्रदेश में हमारी सरकार है और मैं एल्डरमैन हूं। जनप्रतिनिधि से आप इस तरह से बात नहीं कर सकते। थाने से कोई नहीं जाएगा। टीआई उके ने काफी समझाने का प्रयास किया फिर भी नहीं माने। आखिर में खुद उठे और स्टाफ सहित बाहर निकल आए। कहा कि लो तुम्ही लोग एफआईआर दर्ज कर लो। शहर की कानून व्यवस्था संभालो।

तीन माह में बदल गए दो टीआई 
भूषण एक्का 
राजनीति दबाव के चलते सितंबर में हो गया ट्रांसफर। 
प्रणाली वैद्य 
राजनीतिक दबाव में एफआईआर दर्ज की। कोर्ट में परेशान होना पड़ा। दिसंबर में धमतरी ताबदला हो गया।
सुरेंद्र उके
दिसंबर में चार्ज लिया। गुरुवार को कांग्रेसियों की हुज्जत के कारण थाना छोड़कर बाहर निकलने को मजबूर हो गए।

नहीं की जाएगी थाने में अनावश्यक भीड़ बर्दाश्त 
एसएसपी अजय यादव ने कहा कि जनप्रतिनिधियों को थाने में जाने से मनाही नहीं है, लेकिन टीआई पर अनावश्यक दबाव न बनाएं। टीआई भी किसी के दबाव में न आएं। उचित कार्रवाई करें और कानून व्यवस्था बनाएंं। यदि कोई दबाव बना रहा है तो तत्काल बताएं। थाने में अनावश्यक भीड़ बर्दाश्त नहीं की जाएगी। एल्डरमैन सुनील गोयल ने कहा कि मैं सुरेश की तरफ से दूसरे पक्ष के खिलाफ भी एफआईआर दर्ज करने के लिए कह रहा था। इतने में टीआई सुरेन्द्र उके पहुंचे। भीड़ को भगाने लगे। मैंने उन्हें बताया कि मैं एल्डरमैन हूं। फिर भी थाने से बाहर जाने के लिए तेज आवाज में बोला। इसी बात पर विवाद हुआ और टीआई स्टाफ लेकर थाने से बाहर निकल गए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed